Indian Navy SSR Recruitment 1400 Agniveer Posts 2023 | Indian Army TES Recruitment 10+2 Entry Apply Online 2023 | UKPSC कनिष्ठ सहायक भर्ती and Exam Syllabus (445 Vacancies) | Uttarakhand Samuh G Recruitment UKPSC Group C 2022-2023 | BSF HC Min ASI Steno Recruitment 323 Posts 2022-2023 | UTET Result 2022 Check UKTET 1st and 2nd Scorecard | Uttarakhand Police Constable Exam Admit Card Download 2022 | ITBP Constable Tradesman Recruitment 287 Posts 2022-2023 | ITBP Tradesman Selection Process, Physical and Exam Pattern | CISF Constable Tradesman Bharti 787 Vacancies 2022-2023 |

UKSSSC LT Syllabus Uttarakhand Sahayak Adhyapak Exam

UKSSSC (Uttarakhand Subordinate Service Selection Commission) is going to conduct the next competitive exam for the direct recruitment of Assistant Teacher LT in the State. The written exam for the Sahayak Adhyapak LT (Hindi, English, Sanskrit, Science, Mathematics, Commerce, Music, Drawing, Physical Education, SST etc) will be conducted as per the recruitment notification, syllabus and schedule released by the Commission. On this page you can check the complete and latest Uttarakhand LT Grade Teacher Syllabus and Pattern for the upcoming exam. UKSSSC LT Syllabus Uttarakhand Sahayak Adhyapak Exam for Hindi, English, Sanskrit, Science, Mathematics, SST, Commerce, Music, Drawing, Physical Education teacher etc is given below.

Uttarakhand LT Syllabus UKSSSC Teacher Exam

UKSSSC LT Syllabus, Uttarakhand Sahayak Adhyapak ExamUKSSSC LT Syllabus for all the subjects (Hindi, English, Sanskrit, History, Geography, Economics, Biology, Chemistry, Physics, Mathematics, Commerce, Political Science, Art, Music, Home Science, Physical Education etc) with distribution of marks (questions) is being given here. As per the new exam pattern, the LT Question paper will be of 02 Hours duration and will consist of total 100 Objective Type Multiple Choice Questions (01 Mark each) of maximum 100 Marks. Negative marking of ¼ marks will be applicable for every wrong answer. For qualifying the written exam, it’s required to secure minimum 45 marks for General/ OBC candidates and 35 marks for SC/ ST candidates.

For the latest information about the recruitment of UKSSSC LT posts like vacancy details, qualification, selection procedure, application form, notification, important dates etc., visit on the related link: Uttarakhand LT Assistant Teacher TGT Recruitment 1214 Posts

See also: UKSSSC Syllabus Group C (Samuh G) Exam Uttarakhand
See also: UKSSSC Samuh G Recruitment Group C Posts Uttarakhand

Out of the total 100 questions, 30 questions will be based on Teaching Aptitude and remaining 70 questions will be based on the related teaching subject(s) (studied in 12th and Graduation level). The Intermediate (12th) level syllabus of all subjects will be as per the National Council of Educational Research and Training (NCERT). UKSSSC Uttarakhand LT syllabus for Graduate level subjects and Teaching Aptitude is being given below as provided by the Commission.

एल.टी हिन्दी सहायक अध्यापक पाठ्यक्रम

अधिकतम अंक – 100 (प्रत्येक प्रश्न 01 अंक का होगा)
शिक्षण योग्यता – 30 प्रश्न
12 वीं स्तर – हिंदी: 14 प्रश्न और संस्कृत: 14 प्रश्न
स्नातक स्तर – हिंदी: 42 प्रश्न

हिंदी पाठ्यक्रम (स्नातक स्तर):
हिन्दी वर्णमाला।
हिन्दी शब्द रचना।
वाक्य- वाक्य भेद, मुहावरे व लोकोक्तियाँ।
देवनागरी लिपि।
हिन्दी साहित्य का इतिहास- पद्य साहित्य व गद्य साहित्य।
काव्यांग परिचय- रस, छन्द, अलंकार।
हिन्दी कविता 1- भक्ति कालीन, रीतिकालीन।
हिन्दी कविता 2- भारतेन्दु से छायावादीकाल तक, छायावादोत्तर कविता।
हिन्दी गद्य।


नाट्य साहित्य।
कथेतर गद्य।
रेखाचित्र एवं अन्य विधाएँ।

English Assistant Teacher

Maximum Marks – 100 (each question will be of 01 mark)
Teaching Aptitude – 30 Questions
12th Level – 28 Questions
Graduate level – 42 Questions

Syllabus for English (Graduate level):
Grammer and English usage.
Drama.
British prose.
British, American and Indian English poetry- British poetry till 18th century, 19th century British poetry, 20th century British poetry, American and Indian English poetry.
British fiction.
Indian English fiction.
Indian short stories in English.

एल.टी संस्कृत सहायक अध्यापक

अधिकतम अंक – 100 (प्रत्येक प्रश्न 01 अंक का होगा)
शिक्षण योग्यता – 30 प्रश्न
12 वीं स्तर – 28 प्रश्न
स्नातक स्तर – 42 प्रश्न

संस्कृत पाठ्यक्रम (स्नातक स्तर):
व्याकरण- संज्ञा प्रकरण, सन्धि प्रकरण, शब्द रूप, समास, कारक।
छन्द।
अलंकार।
वेद एवं वैदिक साहित्य।
दर्शन साहित्य- तर्क संग्रह।
साहित्य।
संस्कृत साहित्य का इतिहास।

Science (Chemistry, Botany and Zoology)

Maximum Marks – 100 (each question will be of 01 mark)
Teaching Aptitude – 30 Questions
12th Level – Chemistry: 10 Questions, Botany: 09 Questions and Zoology: 09 Questions
Graduate level – Chemistry: 14 Questions, Botany: 14 Questions and Zoology: 14 Questions

Syllabus for Chemistry (Graduate level):
Unit A – Atomic Structure, Periodic Properties, Chemical Bonding- Ionic bonding, covalent bonding, s-Block elements, p-Block elements, Chemistry of noble gases, Metallurgical processes, Chemistry of Transition elements (first, second and third series), Oxidation and reduction, Coordination Chemistry, Chemistry of lanthanides and actinides, Acids and bases, Non aqueous solvents, Magnetic Properties of transition metal complexes, Electronic spectra of transition metal complexes, Organometallic chemistry.

Unit B – Structure and bonding, Mechanism of organic reactions, Stereochemistry of organic compounds, Akanes and cycloalkanes, Alkenes, cycloalkenes, dienes and alkynes, Arenes and aromaticity, Alkyl and aryl halides, Alcohols, Phenols, Ethers and epoxiders, Aldehydes and ketones, Carboxylic acids and their derivatives, Organic synthesis via enolates, Carbohydrates, nitrogen containing organic compounds, Amino acids, peptides, proteins and nucleic acids, Hetrocyclic compounds, Organo-metallic compounds in organie synthesis, Spectroscopy of organic compounds, introduction, Electromagnetic spectrum; absorption spectroscopy, Infra red (IR) absorption spectroscopy, Nuclear magnetic resonance (NMR) spectroscopy, Vibrational spectrum, Rotational spectrum.

Unit C – Gaseous states, Liquid state, Solid state, Colloideal state, Chemical equilibrium, Ionic equeilibria, Phase equilibrium, Chemical kinetics and catalysis, Thermodynamics I, Thermodynamics II, Thermodynamics III, Electrochemistry I, Electrochemistry II, Surface chemistry, Elementary quantum mechanics, Photo chemistry, Solutions and colligative properties

Unit D – Green chemistry, Bioinorganic chemistry, Fats, oils and, detergents, Polymers, Synthetic dyes, Chromatography, Pharmaceutical compounds.

Syllabus for Botany (Graduate level):
Microbiology, fungi, lichens and elementary plant pathology, Algae, bryophyta and pteridophyta, Gymnosperms and taxonomy of angiosperms, Anatomy, embryology and morphogenesis, Ecology and biostatistics, Cytology, genetics, molecular biology and biotechnology, Physiology and biochemistry, Economic botany and plant breeding.

Syllabus for Zoology (Graduate level):
Animal diversity- nonchordata, chordata, Embryology, animal behavior, Applied zoology, toxicology, Ecology and environmental biology, Microbiology and biostatistics, Taxonomy and evolution, Biotechnology and bioinformatics, Biological chemistry, Physiology, Cell biology, Genetics.

Maths (Mathematics and Physics)

Maximum Marks – 100 (each question will be of 01 mark)
Teaching Aptitude – 30 Questions
12th Level – Maths: 20 Questions and Physics: 08 Questions
Graduate level – Maths: 29 Questions and Physics: 13 Questions

Syllabus for Mathematics (Graduate level):
Matrics and determinants, Trigonometry, Vector analysis, Differential calculus, Integral calculus, Coordinate geometry, Algebra, Differential equations, Statics and dynamics, Real analysis, Complex analysis, Linear algebra, Numerical analysis, Mathematical statistics.

Syllabus for Physics (Graduate level):
Mechanics – vectors, gravitations- field and potential, conservation of energy, conservation of linear and angular momentum, electrostatics, magnetism, magnetic, properties of materials, electromagnetic induction, maxwell’s equations and electromagnetic wave propagation.

Optics – interference, diffraction, polarizations, associated optical instruments.

Nuclear physics – basics of atomic and nuclear physics, radiation detection and monitoring devices- radiation quantities and units, radiation detection, elementary particles.

Quantum mechanics – wave particle duality, origin of quantum theory, formalism of quantum mechanics, schrodinger equation- the first law of quantum mechanics.

Solid state physics- crystal structure, elementary, lattice dynamics, magnetic properties of metter, dielectric properties of materials, elementary band theory.

Thermal physics and statistical – thermodynamic description of system, thermodynamics potentials, kinetic theory of gases, theory of radiation, statistical mechanics.

Basic electronics – network theorems , power supplies, solid state devices, amplifiers, oscillators, Boolean algebra, logic gates, basics of special theory of relativity, consequences of Lorentz transformations, dynamics of rigid body and idea of moment of inertia, fluids, elasticity,

Waves, acoustics and oscillations- simple harmonic oscillations, damped harmonic oscillations, forced harmonic oscillations, applications, analysis of wave motions, ultrasonic, acoustics, application, Elements of modem physics.

गृह विज्ञान सहायक अध्यापक

अधिकतम अंक – 100 (प्रत्येक प्रश्न 01 अंक का होगा)
शिक्षण योग्यता – 30 प्रश्न
12 वीं स्तर – 28 प्रश्न
स्नातक स्तर – 42 प्रश्न

गृह विज्ञान पाठ्यक्रम (स्नातक स्तर):
गृह प्रबन्ध – गृह विज्ञान की अवधारणा तथा अध्ययन क्षेत्र (अर्थ, परिभाषा व अध्ययन क्षेत्र, घन व्यवस्थापन, कला के सिद्धान्त एवं तत्व, कार्य सरलीकरण, हाउस कीपिंग।

पारिवारिक वस्त्र एवं परिधान – परिधान परिचय, सामान्य तन्तुओं की पहचान व परीक्षण, तन्तु परिसज्जाएं, वस्त्रों का चयन, वस्त्र निर्माण के सिद्धान्त, वस्त्र संग्रहण व सुरक्षा, घुलाई कला।

आहार एवं पोषण – आहार एवं पोषण एक परिचय, भोजन के आवश्यक घटक, उनके स्रोत, कार्य, आवश्यकता व इनकी न्यूनता से उत्पन्न रोग,खाद्य समूह,आहार नियोजन, जीवन चक्र की विभिन्नउ अवस्थाओं में आहार व पोषण, आहार परिरक्षण, विभिन्नम प्रकार की पाक विधियां तथा भोजन की पौष्टिकता पर उनका प्रभाव, खाद्य विषाक्तता।

बाल विकास- मातृत्व, बाल्यावस्था (वृद्धि एवं विकास), गर्भावस्था, जन्म के प्रकार, जन्मोपरान्त समन्वय, तापमान, श्वसन, पोषण, बाल्यावस्था, शिशु सुरक्षा, शिशु आवश्यकता व शारीरिक विकास, शिशु (भाषा एवं बोली व सामाजीकरण), बाल्यावस्था की सामान्य समस्याएं (नकारात्मकता, बिगडैल स्वभाव, ईर्ष्या, असामाजिक व्यवहार, शारीरिक समस्याएं, भावात्मक समस्याएं व सम्भावित दुर्घटनाएं) , शैशवावस्था (व्यवहार, विशेषता व संवेदन योग्यता) ।

मानव विकास – जीवन चक की विभिन्ना अवस्थाओं में विकास (पूर्व विद्यालयी अवस्था), यौवनोत्सुक अवस्था, किशोरावस्था, प्रारम्भिक वयस्क अवस्थता, मध्य वयस्क अवस्था, वृद्धावस्था।

आवास एवं आन्तरिक सज्जा- घर (कार्य, परिवार का आकार, संगठन गतिविधया), गृह स्थिति, गृह नियोजन के सिद्धान्त, परिवार कल्याण एवं सामुदायिक शिक्षा, गृह विज्ञान प्रसार शिक्षा।

Commerce Assistant Teacher

Maximum Marks – 100 (each question will be of 01 mark)
Teaching Aptitude – 30 Questions
12th Level – 28 Questions
Graduate level – 42 Questions

Syllabus for Commerce (Graduate level):
Financial accounting
Advanced financial accounting
Cost and management accounting
Financial management and taxation
Money, banking, insurance, auditing, law and economics

Physical Education Assistant Teacher

Maximum Marks – 100 (each question will be of 01 mark)
Teaching Aptitude – 30 Questions
12th Level – 28 Questions
Graduate level – 42 Questions

Syllabus for Physical Education (Graduate level):
History and fundamentals of physical education- nature, scope and significance.
Anatomy and physiology in physical education.
Health education.
Sports training.
Kinesiology and biomechanics.
Test and measurement.
Sports psychology.
Officiating and coaching.

संगीत सहायक अध्यापक पाठ्यक्रम

अधिकतम अंक – 100 (प्रत्येक प्रश्न 01 अंक का होगा)
शिक्षण योग्यता – 30 प्रश्न
12 वीं स्तर – 28 प्रश्न
स्नातक स्तर – 42 प्रश्न

संगीत पाठ्यक्रम (इण्टरमीडिएट व स्नातक स्तर):
संगीत का शास्त्रीय अध्ययन।
संगीत का ऐतिहासिक अध्ययन, ग्रन्थों का अध्ययन, गायन शैलियां।
घराना एवं संगीतज्ञ, जीवनी।
वाद्य वर्गीकरण- तत्‌, सुषिर, अवनद्ध, घञ्‌।
रागों एवं तालों का परिचय।

Art (Drawing) Assistant Teacher

Maximum Marks – 100 (each question will be of 01 mark)
Teaching Aptitude – 30 Questions
12th Level – 28 Questions
Graduate level – 42 Questions

Syllabus for Drawing and Painting (Graduate level):
Fundamental of arts- medium, technique and folk art (Indian)
History of art- Indian painting and sculpture, western painting and sculpture
Aesthetics (Indian and western)
Definition of technical drawing, plane and solid geometry 2D and 3D, building drawing, shape, size, artistic, architecturing drawing, basic form.

LT General/ SST Syllabus (History, Geography, Political Science and Economics)

अधिकतम अंक – 100 (प्रत्येक प्रश्न 01 अंक का होगा)
शिक्षण योग्यता – 30 प्रश्न
12 वीं स्तर – इतिहास: 07 प्रश्न, भूगोल: 07 प्रश्न, राजनीति विज्ञान: 07 प्रश्न और अर्थशास्त्र: 07 प्रश्न
स्नातक स्तर – इतिहास: 11 प्रश्न, भूगोल: 11 प्रश्न, राजनीति विज्ञान: 10 प्रश्न और अर्थशास्त्र: 10 प्रश्न

इतिहास पाठ्यक्रम (स्नातक स्तर):
भारतीय इतिहास के स्त्रोत: साहित्यिक एवं पुरातात्विक।
प्रस्तर युग का वृहद सर्वेक्षण: पुरापाषाण काल, मध्य पाषाणकाल, नवपाषाण काल।
ताम्रपाषाणकालीन संस्कृति, लौह संस्कृति, महापाषाण संस्कृति।
हड़प्पा सभ्यता: उत्पत्ति, विस्तार, विशेषतायें, पतन।
वैदिक एवं उत्तर वैदिक युग: स्त्रोत, उत्पत्ति, राजनैतिक, सामाजिक, आर्थिक एवं धार्मिक स्थिति।
प्रादेशिक राज्यों का उदय: महाजनपद, मगध साम्राज्य की सफलता के कारण।
छठी शताब्दी ई०पू० के सामाजिक-थार्मिक आन्दोलन: जैन धर्म, बौद्ध धर्म इत्यादि।
मौर्य काल: मौर्य साम्राज्य की स्थापना एवं विस्तार, प्रशासन एवं अर्थव्यवस्था, अशोक का धम्म, मौर्य कला।
उत्तर मौर्य काल: शुंग, कण्व, सातवाहन, राजनीतिक-आर्थिक स्थिति, कला एवं स्थापत्य।
शक, पार्थियन एवं कुषाण युगः कनिष्क प्रथम, कला एवं स्थापत्य का विकास, कुषाण वंश का पतन।
गुप्त काल: स्त्रोत, प्रशासन, आर्थिक स्थिति, कला एवं स्थापत्य, पतन।
उत्तर गुप्त काल: हर्षवर्धन, राजनीतिक, आर्थिक एवं धार्मिक स्थिति, चालुक्य, पल्लसव, पाल, प्रतिहार एवं राष्ट्रकूट वश।
चोल वंश: प्रशासन, स्थानीय स्वशासन।
तुर्कों का आक्रमण: गजनवी, गोरी वंश, कारण एवं परिणाम।
दिल्लीं सल्तनतः गुलाम, खिलजी, तुगलक, सैयद एवं लोदी वंश, प्रशासन, अर्थव्यवस्था, कला एवं स्थापत्य।
विजयनगर एवं बहमनी साम्राज्य: राजनीतिक, आर्थिक स्थिति, कला, स्थापत्य।
भक्ति एवं सूफी आंदोलन: उत्पत्ति एवं विकास।
मुगल काल: उद्भव, विकास, बाबर, हुमायूँ, अकबर की प्रशासनिक एवं धार्मिक नीति, जहाँगीर एवं नूरजहाॅं का मूल्यॉंकन, शाहजहाँ: कला का विकास, उत्तराधिकार का युद्ध, औरंगजेब, मुगल साम्राज्य का पतन, उत्तर मुगल काल।
मराठों का उदय: शिवाजी, पेशवाओं के अन्तर्गत प्रशासन, मराठा साम्राज्य का पतन।
भारत में ब्रिटिश साम्राज्य का आरम्भ: यूरोपियों के मध्य संघर्ष एवं विस्तार।
औपनिवेशिक अर्थव्यवस्था: कृषि एवं व्यापार।
18 वीं शताब्दी के सामाजिक एवं धार्मिक सुधार आंदोलन: राजा राममोहन राय, ईश्वर चन्द विद्यासागर, सर सैयद अहमद खाँ इत्यादि।
स्वतंत्रता आन्दोलन: उदारवाद, उग्रवाद, क्रान्तिकारी।
गाँधीवादी आन्दोलन: असहयोग, सविनय अवज्ञा, भारत छोड़ो आन्दोलन।
साम्प्रदायिकता एवं भारत का विभाजन।
भारत छोड़ो आन्दोलन के बाद की घटनायें: शिमला सम्मेलन, कैबिनेट मिशन, संविधान सभा, माउन्टबेटेन योजना, गणतन्त्र की स्थापना।

भूगोल पाठ्यक्रम (स्नातक स्तर):
उत्तराखण्ड का भूगोल – भौगोलिक अवस्थिति, भू-आकृति एवं संरचना, मौसम एवं जलवायु, जल प्रवाह तन्त्र, प्राकृतिक वनस्पति, कृषि- परम्परागत कृषि एवं फसलें, फसलों का उत्पादन एवं क्षेत्रीय वितरण, वाणिज्यिक कृषि, फसल विविधता, जैविक कृषि, पोषण एवं खाद्यान्न सुरक्षा, पशुपालन, सिंचाई के साधन, प्राकृतिक संसाधन-हिमनद, झील तथा जलाशय, बहुउद्देशीय जल विद्युत परियोजना, मृदा, खनिज, जड़ी बूटियाँ एवं चिकित्सकीय पौधे, मानव संसाधन-, प्रवास तथा मनीऑर्डर अर्थव्यवस्था, पर्यटन एवं तीर्थाटन, नगरीकरण, छावनियाँ, परिवहन तन्त्र, औद्योगीकरण एवं औद्योगिक विकास, अनुसूचित जातियाँ तथा जनजातियाँ, आपदाएँ एवं प्रबन्धन- हिमस्खलन, भूस्खलन, भूकम्प, बाढ़, बादल फटना, सूखा, वनाग्नि, मानव एवं वन्य जीव संघर्ष।

भारत का भूगोल – भौगोलिक परिचय, उच्चावच्च एवं संरचना, भौतिक प्रवेश, जलवायु प्रदेश, जल प्रवाह तन्त्र, प्राकृतिक वनस्पतियाँ, मिटि्टयाँ, जल संसाधन, सिंचाई के साधन, पशुपालन, कृषि एवं कृषि-जलवायु प्रदेश, खनिज संसाधन;- लौह अयस्क, खनिज तेल, कोयला, उद्योग;- लोहा एवं इस्पात उद्योग, सीमेन्ट उद्योग, तेल शोधनशाला, सूती कपड़ा उद्योग, चीनी उद्योग।
जनसंख्या एवं अधिवास, नगरीकरण, परिवरहन के साधन।
पर्यावरणीय समस्याएं;- जल प्रदूषण, वायु प्रदूषण, ध्वनि प्रदूषण, पर्यावरण अपघटन, कूड़ा करकट प्रबन्धन, नमामि गंगे परियोजना, सूदूर संवेदन की अवधारणा एवं महत्व, भौगोलिक सूचना प्रणाली, मौसम पूर्वानुमान।
आपदायें एवं आपदा प्रबन्धन:- भूकम्प, उष्ण कटिबन्धीय चक्रवातीय तूफान, बाढ़, मरुस्थलीकरण, सुनामी।

विश्व का भूगोल – पृथ्वी की उत्पत्ति एवं सौर मंडल, भू-संतुलन कां सिद्धान्त, पर्वतों के निर्माण के सिद्धान्त, चट्टान, अपरदन, अपक्षय, वायुमण्डल की संरचना, विश्व जलवायु प्रदेश; महासागरीय धाराएं, सागरीय नितल की बनावट, ज्वार-भाटा, एलनीनो तथा लानीनो, कृषि एवं उद्योग; खनिज, ऊर्जा संसाधन, कृषि प्रदेश, औद्योगिक प्रदेश, जनसंख्या, जनजातियाँ, विश्व तापमान वृद्धि एवं जलवायु परिवर्तन, अन्तराष्ट्रीय व्यापार।

राजनीति विज्ञान पाठ्यक्रम (स्नातक स्तर):
राज्य: परिभाषा और तत्व, राज्य की उत्पत्ति के सिद्धान्तः विकासवादी तथा सामाजिक समझौता सिद्धान्त।
संप्रभुता- परिभाषा और मुख्य विशेषताएँ।
अवधारणाएँ-स्वतंत्रता, समानता, न्याय, अधिकार तथा प्रजातंत्र।
शासन के प्रकार, संसदात्मक और अध्यक्षात्मक शासन, एकात्मक और संघात्मक, ब्रिटेन व अमेरिका के संदर्भ में।
दलीय व्यवस्था तथा दबाव समूह।
लोक कल्याणकारी राज्य की अवधारणा।
राजनीतिक विचारक-यूनानीः प्लेटो और अरस्तू।
राजनीतिक विचारक भारतीय-कौटिल्य, गांधी और अम्बेडकर।
मार्क्सवाद, नारीवाद, पर्यावरणवाद, संयुक्त राष्ट्र संघ-मुख्य अंग तथा उनके कार्य, मानवाधिकार, आतंकवाद, वैश्वीकरण, गुट निरपेक्ष आंदोलन।
दक्षिण एशिया क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क)।
भारतीय संविधान का निर्माण और स्रोत।
भारतीय संविधान की प्रस्तावना और मुख्य विशेषताएँ।
मौलिक अधिकार और मौलिक कर्तव्य, राज्य के नीति निर्देशक सिद्धान्त।
संघीय कार्यपालिका-राष्ट्रपति प्रधानमंत्री और मंत्रिपरिषद।
संघीय संसद- राज्य सभा और लोक सभा।
संघीय न्यायपालिका – सर्वोच्व न्यायालय- संरचना तथा क्षेत्राधिकार, न्यायिक पुनरावलोकन।
भारत में संघीय व्यवस्था का स्वरूप।
चुनाव आयोग – संगठन और कार्य तथा शक्तियाँ।
पंचायत राज्य उत्तराखण्ड के विशेष संदर्भ में।

अर्थशास्त्र पाठ्यक्रम (स्नातक स्तर):
इकाई 1 – व्यष्टि अर्थशास्त्र: अर्थ, क्षेत्र एवं अर्थशास्त्र की अध्ययन विधियां, उपयोगिता विश्लेषण, मांग का नियम, तटरथता वक्र विश्लेषण, उपभोक्ता का संतुलन; मांग की लोच, उत्पत्ति के नियम, उत्पादन फलन, सममात्रा वक्र, उत्पादक का संतुलन, उत्पादन की लागत और लागत वक्र, पूर्ति वक्र, आगम वक्र, बाजार ढाँचा, पूर्ण प्रतियोगिता, एकाधिकार, एकाधिकारात्मक प्रतियोगिता के अंतर्गत कीमत निर्धारण तथा अल्पाधिकार; साधन कीमत निर्धारण- वितरण का सीमांत उत्पादकता सिद्धांत, श्रम, लगान, ब्याज तथा लाभ के सिद्धांत।

इकाई 2 – समष्टि अर्थशास्त्र: अर्थ, क्षेत्र तथा समष्टि अर्थशास्त्र के प्रकार, राष्ट्रीय आय – अर्थ, अवधारणायें तथा इसकी माप, क्लासिकी तथा केन्जियन रोजगार सिद्धान्त, उपभोग फलन, गुणक की अवधारणा; स्फीति; व्यापार चक्र: मुद्रा एवं बैकिंग- अवधारणा, कार्य नाप, मुद्दा का परिमाण सिद्धांत- लेन-देन तथा नकद शेष दृष्टिकोण, केन्द्रीय बैंक, व्यापारिक बैंक, बैकिंग क्षेत्र सुधार, मौंद्रिक नीति; लोक वित- अर्थ, राजकोषीय कार्य, अधिकतम सामाजिक लाभ का सिद्धांत, लोक व्यय- अर्थ, नियम एवं लोक व्यय के प्रभाव: लोक आय-स्त्रोत, कराघात एवं करापात तथा करारोपण के प्रभाव, वस्तु एवं सेवा कर (GST); लोक ऋण- अर्थ, स्त्रोत और भुगतान की विधियां, सार्वजनिक वस्तु एवं वाह्ययतायें, राजकोषीय नीति।

इकाई 3 – भारतीय अर्थव्यवस्था: भारतीय अर्थव्यवस्था की विशेषतायें, जनांकिकीय प्रवृत्तियां मानव विकास सूचकांक, प्राकृतिक संसाधन, कृषि उत्पादन तथा उत्पादकता की प्रवृत्तियां, कृषि वित और विपणन, सहकारी आंदोलन, खाद्य सुरक्षा; औद्योगिक निष्पादन और समस्या यें, लघु उद्योग, सूक्ष्म-लघु एवं मध्यम उद्योग, भारत में सुधार पूर्व एवं सुधार पश्चात औद्योगिक विकास, नई औद्योगिक नीति, नीति आयोग; भारत का विदेशी व्यापार- प्रवृत्ति और दिशा, भारत का भुगतान संतुलन, नई विदेशी व्यापार नीति, विश्व व्यापार संगठन (WTO) एवं भारत; सामाजिक सुरक्षा योजनायें, भारतीय कर प्रणाली के वर्तमान मुद्दे, भारत में संघीय व्यवस्था, संघीय बजट (नवीनतम) विश्लेषण तथा बजट घाटे, गरीबी निवारण और रोजगार सृजन कार्यक्रम, उत्तराखण्ड की अर्थव्यवस्था- मूलभूत विशेषतायें, प्राकृतिक संसाधन- खनिज, जल और वन; जनसंख्या, फसल चक्र, जैविक खेती और परम्परागत फसलें, सहकारी कृषि, राज्य की अधः संरचना, औद्योगीकरण तथा विपणन की समस्याजयें, प्रवास, पर्यटन, क्षेत्रीय असंतुलन, राज्य की कल्याणकारी योजनायें तथा आपदा प्रबंधन तंत्र, राज्य के बजटों (नवीनतम) का विश्लेषण।

इकाई 4 – अर्थशास्त्र में सांख्यिकी का अनुप्रयोग: समंकों का संकलन, वर्गीकरण तथा प्रदर्शन; केन्द्रीय प्रवृत्ति की माप- माध्य, माध्यिका एवं बहुलक, अपकिरण, लारेंज वक्र, सहसंबंध-कार्ल पियर्सन तथा कोटि अंतर विधि, सूचकांक।

Teaching Aptitude (B.Ed, LT, D.P.Ed, B.P.Ed Training)

बी.एड/ एल.एटी/ डी.पी.एड/ बी.पी.एड प्रशिक्षण शिक्षण अभिरुचि से सम्बन्धित पाठ्यक्रम:
शिक्षकों में छात्रों के प्रति अभिवृत्ति, सामाजिक परिपक्वता, शिक्षा के प्रति अभिवृत्ति, विचार सम्प्रेषण, अन्तः वैयक्तिक सम्प्रेषण, शिक्षण-व्यवसाय व व्यावसायिक प्रतिबद्धता, शैक्षिक प्रयोग, समस्यासएँ एवं नवाचार, शिक्षक की योग्यताएँ एवं गुण, शिक्षण: प्रकृति, उद्देश्य, अभिलक्षण एवं मूलभूत आवश्यकताएँ, अधिगमकर्ता के अभिलक्षण, शिक्षण को प्रभावित करने वाले कारक, शिक्षण की विधियाँ, शिक्षण की सहायक सामग्रियां, बच्चों मे वृद्धि एवं विकास, वृद्धि एवं विकास में आनुवांशिकी एवं वातावरण का प्रभाव, अधिगम का अर्थ एवं अवधारणा, इसकी प्रक्रिया तथा इसे प्रभावित करने वाले कारक, अधिगम के सिद्धान्त एवं उसका प्रभाव, बच्चों का सीखना व सोचना, अभिप्रेरणा एवं अधिगम पर इसका प्रमाव, वैयक्तिक विभेद, व्यक्तित्व, बुद्धि, विशेष आवश्यकता वाले अधिगमकर्ता, अधिगम की कठिनाईयाँ, अधिगम के पठार, लर्निंग गैप, सामंजस्य, शिक्षण अधिगम प्रक्रिया, राष्ट्रीय पाठ्यचर्या रूपरेखा 2005 के संदर्भ में शिक्षण अधिगम रणनीति एवं विधियाँ, मापन एवं मूल्यांकन का अर्थ एवं प्रयोजन, मूल्यांकन पद्धतियाँ, सतत एवं व्यापक मूल्यांकन, क्रियात्मक शोध, शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009।
See also: UK LT Exam Date, Admit Card, Answer Key and Result
See also: Uttarakhand Lecturer Recruitment 571 PGT Vacancies
See also: Uttarakhand Govt all Recruitment and Exam Updates


Search any information available on this site by the help of the search box above. You may visit later on this page for any latest updates related to UKSSSC LT Syllabus, Sahayak Adhyapak Exam Uttarakhand etc.

Related Posts

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

We would love to hear from you! All comments will appear after approval as per the comment policies mentioned on this page. Ask question or start discussion or share information related to the post topic.